Monday, April 5, 2010

एक और sher

मेरे लव पे कोई गीत नहीं है
दिल के रोने की वो आवाज है
तुझको दोखा हुआ है साज का
दिल के टूटने की वो आवाज है

No comments:

Post a Comment